25 December 2017

*सबका साथ , सबका विकास , दलितों का विनाश* Dalit are not more if they not wake

*सबका साथ , सबका विकास , दलितों का विनाश*

सबसे ज्यादा समय तक जहा भाजपा का साशन रहा है वहा बेरोकटोक दलित अत्याचार....

गुजरात में सन् 2001 से 2016 तक दलित पर हूए अत्याचार की रीपोर्ट :
भूले नही दोस्तो...

गुजरात में साल 2001 से 2014 तक बहोत अच्छा विकास हुवा हे यही बार बार बताया जाता हे गुजरात का ये आधा अधूरा सच हे...।
सूचना अधिकार के तहत मिली इंफमेशन में हुवा घस्फोट...

दलितों की हत्या :

सन् 2001, दलितों की हत्या, 21

सन् 2002, दलितों की हत्या, 20

सन् 2003, दलितों की हत्या, 14

सन् 2004, दलितों की हत्या, 09

सन् 2005, दलितों की हत्या, 10

सन् 2006, दलितों की हत्या, 20

सन् 2007, दलितों की हत्या, 17

सन् 2008, दलितों की हत्या, 15

सन् 2009, दलितों की हत्या, 20

सन् 2010, दलितों की हत्या, 14

सन् 2011, दलितों की हत्या, 14

सन् 2012, दलितों की हत्या, 25

सन् 2013, दलितों की हत्या, 31

सन् 2014, दलितों की हत्या, 27

सन 2015 , दलितों की ह्त्या
17

सन 2016 , दलितों की हत्या
32

16 साल में
Total 306 दलितों की हत्या....।

दलित महिलाओ पे रेप :

सन् 2001, दलित महिलाओ पे रेप 14

सन् 2002, दलित महिलाओ पे रेप, 19

सन् 2003, दलित महिलाओ पे रेप, 24

सन् 2004, दलित महिलाओ पे रेप, 24

सन् 2005, दलित महिलाओ पे रेप, 25

सन् 2006, दलित महिलाओ पे रेप, 18

सन् 2007, दलित महिलाओ पे रेप, 32

सन् 2008, दलित महिलाओ पे रेप, 30

सन् 2009, दलित महिलाओ पे रेप, 37

सन् 2010, दलित महिलाओ पे रेप, 39

सन् 2011, दलित महिलाओ पे रेप, 51

सन् 2012, दलित महिलाओ पे रेप, 44

सन् 2013, दलित महिलाओ पे रेप, 70

सन् 2014, दलित महिलाओ पे रेप, 74

सन् 2015, दलित महिलाओ पे रेप, 73

सन् 2016, दलित महिलाओ पे रेप, 80

लास्ट 16 साल में टोटल 654 दलित महिलाओं रेप हुवे..।

कुल दलित ऐट्रोसिटी की घटनाये :

सन् 2001, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 1033

सन् 2002, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 1007

सन् 2003, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 897

सन् 2004, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 929

सन् 2005, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 962

सन् 2006, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 991

सन् 2007, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 1115

सन् 2008, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 1165

सन् 2009, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 1084

सन् 2010, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 1006

सन् 2011, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 1083

सन् 2012, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 1074

सन् 2013, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 1147

सन् 2014, ऐट्रोसिटी की घटनाये, 1122

सन् 2015, दलित ऐट्रोसिटी की घटनाये, 1046

सन 2016 में दलित ऐट्रोसिटी की घटनाये , 1355

लास्ट 16 साल मे कुल
16920 दलित अत्याचार के मामले दर्ज हुवे...।

सन् 2014 में गुजरात के, 116 गाँव में दलितों को पुलिस प्रोटेक्सन दिया गया है।

हररोज गुजरात में 3 दलितों पे अत्याचार...।

( ये सभी इन्फ़रमेशन सुचना अधिकार 2005 ( माहिती अधिकार ) के मुताबिक़ मुझे ( कौशिक परमार 9913423828 ) को मिली हे...।)

गुजरात में करीब 80 से ज्यादा जितने गाव में दलितों का सामाजिक बहिस्कार

करीब 10 से ज्यादा  गाव में दबंगों की जो हुकमी से दलितों को गाव छोड़ने पडे हे याने हिजरत करनी पड़ी है..।

गुजरात में ऐट्रोसिटी के केस में कन्वीक्षन रेट 3 %

ऐट्रोसिटी के मुताबिक़ एक भी जिल्ले में स्पेश्यल डेजिग्नेटेड कोर्ट आज भी नहीं है..।

केस लड़ने में स्पेश्यल पब्लिक प्रोस्युकिशन की पेनल नहीं है..।

दलितों को न्याय नहीं मिले इसीलिए थान ह्त्याकांड की जांच का  संजय प्रसाद का रिपोर्ट सरकार जाहर नहीं करती हे...।

गुजरात में दलित आर्मी मेंन पर दबंगो 42 जितनी गोलिया मार कर ह्त्या कर देते हे ( कराली , सुरेन्द्रनगर )

16 , 17 और 23 साल के दलित बच्चो पर A.K.47 से गोलिया चला कर मार दिया जाता हे , ( थान , सुरेंद्रनगर )

दबंगों  के साथ  पोलिस भी दलितों को मारती है. ( थोराडा , जुनागड , अहेमदाबाद अम्दुपुरा , धोलका , )

गुजरात में कई गाव के नाम ऐसे हे जो दलित जाती के अपमानित करते हुवे नाम पर रखे हे.

गुजरात में दलित पंचायत प्रतिनिधि ( सरपंच ) भेदभाव् के शिकार ( पंचायत एक्ट बदलने की मांग ) 

गुजरात में सामाजिक बहिस्कार किये हुवे गाव में ( नंदाली  डिस्ट्रिक्ट मेहसाना ) ने दलितों की गायो को भी घास नहीं दिया जता..।

गुजरात में दलित युवा अपनी मुछो को ताव नहीं दे सकता और मुछे नही रख सकते .( गाव मेमदपूरा डिस्ट्रिक्ट मेहसाना , लिम्बोदरा डिस्ट्रिक्ट गांधीनगर )

गुजरात में कई गाव में दलितों के बाल नही काटे जाते  ( नंदाली , मेमदपूरा , अम्बाशन  करबटिया , आखज , कंसाराकुय   लिस्ट बहोत लंबा हे )

( यहां पर लिखे दलित ऐट्रोसिटी के आंकड़े सूचना अधिकार में हमे मीले है )

Source: WhatsApp

No comments:

Post a Comment

Please make a comment